Panipat Liquor Contractor house Theft two accused servant at large hpvk

0
19


सुमित भारद्वाज

पानीपत. हरियाणा के पानीपत में दो नौकरों ने मालिक के साथ बड़ा विश्वासघात किया है. नौकरों ने शराब ठेकेदार मालिक को खाने में नशीला पदार्थ खिलाया, जिससे मालिक बेहोश हो गया. मालिक के बेहोश हो जाने पर दोनों चोर अलमारी का लॉक तोड़कर उसमें रखी लाखों की नकदी, पिस्तौल व कारतूस चुरा कर फरार हो गए. वारदात के बारे में किसी को पता न लगे, इसके लिए उन्होंने सीसीटीवी कैमरे की एलसीडी को तोड़कर पानीपत में डुबो दिया और मौके का फायदा उठाकर फरार हो गए. बेहोशी टूटने पर मालिक उठा तो उसे वारदात का पता लगा, जिसकी सूचना उसने पुलिस को दी. पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपियों के खिलाफ लूट समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर मामले की आगामी कार्रवाई व आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है.

शराब ठेकेदार सुरेंद्र सिंह ने बताया कि वह गांव खलीला का रहने वाला है और उसका पानीपत शहर में शराब कारोबार है. कैश कलेक्शन के लिए 13-17 के एक मकान में अपना ऑफिस बनाया हुआ है. जहां पर उसने करीब 9 माह से पदम बहादुर निवासी नेपाल को बतौर रसोईया रखा हुआ था. 12 जनवरी को पदम बहादुर अपने दो जानकार को लेकर ऑफिस पर आया. इन जानकारों में पदम का सगा भाई डौम बहादुर भी था. पदम ने दोनों को अपनी जगह पर काम करने के लिए ऑफिस रखा और एक दिन की छुट्‌टी लेकर चला गया था.

नशीली चीज खिलाई और बेहोश किया

डौम और उसके साथी ने ऑफिस में बैठे सुरेंद्र के पार्टनर सुरेश को खाने में नशीला पदार्थ खिला दिया. जिससे उसे नशा हो गया. नशा होने के बाद वह बेहोश हो गया. इसके बाद डौम व उसका साथी ऑफिस के एक कमरे के लॉकर में रखी हुई शराब ठेके की करीब 5 लाख 13 हजार 200 रुपए की कलेक्शन, लाइसेंसी पिस्टल, उसकी एक एक्स्ट्रा मैगजीन व 10 कारतूस चुरा कर ले गए.

सीसीटीवी फुटेज भी तोड़ दिए

वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए. सुरेंद्र का कहना है कि इस साजिश में उसके नौकर पदम बहादुर की भी मिलीभगत है. आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद ऑफिस में लगी दोनों एलसीडी टीवी स्क्रीन को तोड़कर बाथरूम में एक बाल्टी में पानी में डुबो कर फरार हुए है. बाल्टी में टूटी हुई एलसीडी को डुबोने के बाद आरोपियों ने उसमें नल भी चला दिया. आरोपी ऑफिस का सारा सामान भी बिखेर गए. रसोई में खाना भी खुला ही छोड़ा हुआ था.

आपके शहर से (पानीपत​)

Tags: Government of Haryana, Haryana police



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here