People displeasure with banks is increasing Complaints with RBI increased – Business News India

0
16


बैंकों के खिलाफ साल दर साल रिजर्व बैंक के पास शिकायतें बढ़ती ही जा रही है। वित्तवर्ष 2020-21 में आरबीआई लोकपाल के पास 3.41 लाख से ज्यादा शिकायतें पहुंची हैं। इनमें से मेट्रोपॉलिटन और शहरी क्षेत्रों से 70 फीसदी से ज्यादा शिकायतें रही हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि पूरे वित्तवर्ष में 1 जुलाई 2020 से 31 मार्च 2021 के दौरान मेट्रोपॉलिटन इलाकों से जुड़ी 54 फीसदी, शहरी इलाकों से जुड़ी 20 फीसदी, सेमी अर्बन इलाकों से 16 फीसदी और ग्रामीण इलाकों से करीब 10 फीसदी शिकायतें पहुंची हैं।

यह भी पढ़ें: पेट्रोल और डीजल की नई कीमतें जारी, फटाफट यहां करें चेक

आंकड़ों की बात की जाए तो रिजर्व बैंक के कुल 22 लोकपाल कार्यालयों में 3.41 लाख शिकायतें पहुंची हैं। वित्तवर्ष 2020-21 की बात की जाए तो इनमें चंडीगढ़ में सबसे ज्यादा शिकयातें पहुंची। चंडीगढ़ में 36,488 आईं। वहीं कानपुर बैंकिंग लोकपाल कार्यालय में शिकायतों के मामले में दूसरे नंबर पर है। यहां बैंकों के खिलाफ 26,278 शिकायतें पहुंची।

शिकायतों के मामले में नई दिल्ली (एक) कार्यालय तीसरे नंबर पर रहा। यहां 22,957 शिकायतें आईं। इसके अलावा पटना में 17,253, रायपुर में 3,964 और रांची कार्यालय में 4,724 शिकायतें पहुंची हैं। पूरे वित्तवर्ष के दौरान 31.44 फीसदी शिकायतें ई-मेल के जरिए वहीं 59 पर्सेंट ऑनलाइन दर्ज की गई। 10 फीसदी शिकायतें बैंक ग्राहकों ने फैक्स या फिर पोस्ट जैसे माध्यमों से भेजी हैं।

कुल शिकायतों में से मेट्रो इलाकों से सबसे ज्यादा शिकायतें क्रेडिट कार्ड से जुड़ी रहीं। इनकी तादाद मेट्रो में 97 फीसदी रही है। वहीं रिकवरी एजेंटों से जुड़ी 82 फीसदी शिकायतें भी मेट्रों के इलाकों में रहीं। बिना नोटिस के चार्ज लगाने की 55 फीसदी शिकायतें मिलीं।

रिजर्व बैंक के लोकपाल के पास ग्रामीण इलाकों से सबसे ज्यादा पेंशन पेमेंट से जुड़ी शिकायतें पहुंची हैं। इन शिकायतों की तादाद 15 फीसदी है। इसके बाद 14 फीसदी शिकायतें डेबिट या एटीएम कार्ड से जुड़ी रहीं। इसके अलावा पैरा बैंकिंग, नोटों और सिक्कों, लोन और बैंक की तरफ से किए गए वादे पूरे न करने संबंधी शिकायतें आईं।

कुल शिकायतों में से सरकारी क्षेत्र के बैंकों के खिलाफ 29.51 फीसदी यानि 100,855 तो वहीं निजी क्षेत्र के बैंकों के खिलाफ 37 फीसदी यानि 126,303 शिकायतें दर्ज की गई हैं। सरकारी बैंकों में एसबीआई के खिलाफ करीब 22 फीसदी शिकायतें आईं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here