Prayagraj assembly election:-Leaders adopted a unique way of campaigning, some were seen making jalebi and some kachoris – News18 हिंदी

0
127


प्रयागराज,उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि देश की राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है.यहां की राजनीति हमेशा से दिल्ली के गलियारे में अपनी अहम भूमिका दर्ज कराती रही है.इसी के चलते वर्तमान में यहां की 12 विधानसभाओं से प्रत्याशी जनता को अपने पाले में करने के लिए हर वो जुगत अपना रहे हैं जिससे उनके विश्वास को जीता जा सके.यहां 27 फरवरी को मतदान होना है,प्रत्याशियों को समर्थन देने के लिए पार्टी से संबंधित नेता और स्टार प्रचारकों का प्रयागराज में आगमन होता रहा.सभी ने बड़ी-बड़ी रैलियां और सभाएं कीं.रोड शो का आयोजन भी किया गया.इसी बीच कुछ ऐसे नेता भी नजर आए जिन्होंने अपने अनोखे प्रचार के चलते लोगों को अपने पाले में करने की कोशिश की.प्रत्याशी अपनी-अपनी विधानसभाओं में पकौड़े और जलेबियां तलते नजर आए, कुछ गरीबों के साथ बैठकर खाना खाते भी नजर आए.प्रत्याशियों ने वह सारे मापदंड अपनाए जिससे लोगों के मत को अपने पक्ष में किया जा सके.

कोई जलेबी तो कोई बनाते दिखा कचौड़ी
शहर पश्चिमी से पूर्व विधायक और यूपी कैबिनेट के पूर्व मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह अपनी विधानसभा क्षेत्र में पकौड़े तलते हुए नजर आए.वह एक छोटी दुकान में पहुंचे और दुकानदार से पकौड़े तलते सीखते नजर आए.उद्देश्य था लोगों के विश्वास को जीतना और उनके साथ घुलना-मिलना.

वहीं शहर दक्षिणी विधानसभा में भी भाजपा नेता और पूर्व विधायक नंद गोपाल गुप्ता नंदी भी अपने विधानसभा क्षेत्र में जलेबियां बनाते नजर आए.एक अन्य दुकान में कचौड़ियां भी तलीं और लोगों को अपने हाथ की कचौड़ियों का स्वाद चखाया.ऐसे में सवाल उठता है कि दोबारा इन सीटों पर चुनाव लड़ने वाले पूर्व कैबिनेट मंत्री और पूर्व विधायक की कचौड़ी और जलेबी बनाने की जुगत क्या वाकई रंग लाएगी? इसका फैसला जनताजनार्दन 27 फरवरी को वोट देकर करेगी.

(रिपोर्ट-प्राची शर्मा, प्रयागराज)

आपके शहर से (इलाहाबाद)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: UP Election 2022



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here