Prayagraj Murder Case: प्रयागराज हत्‍याकांड की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, जानें कैसे हुई 5 लोगों की मौत?

0
33


प्रयागराज. यूपी के प्रयागराज के गंगापार थरवाई थाना क्षेत्र के खेवराजपुर गांव में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्‍या (Prayagraj Murder Case) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ गयी है. रिपोर्ट के मुताबिक, सभी पांचों मृतकों की मौत सिर में गंभीर चोट लगने से हुई है. हालांकि परिवार के मुखिया राजकुमार यादव की बेटी और बहू से दुष्‍कर्म की पुष्टि नहीं हुई है. वहीं, प्रयागराज पुलिस ने मृतक महिलाओं की वजाइनल स्लाइड का स्वाब जांच के लिए एफएसएल लैब भेजने का फैसला किया है.

प्रयागराज के एसएसपी अजय कुमार ने कहा कि जल्द ही इस ब्लाइंड केस का पर्दाफाश करते हुए सभी दोषियों की जल्द गिरफ्तारी की जाएगी और उन्हें कठोरतम सजा दिलाने का काम किया जाएगा. यही नहीं, पुलिस को अभियुक्तों की तलाश की दिशा में महत्वपूर्ण संकेत मिले हैं, जिसके आधार पर 12 संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है.

परिवार में मृतक राजकुमार का बेटा और नातिन ही बचे
प्रयागराज पुलिस के मुताबिक मृतकों में राजकुमार यादव (55 वर्ष), राजकुमार की बेटी मनीषा (25 वर्ष), राजकुमार की पत्नी कुसुम (50 वर्ष), राजकुमार की बहू सविता (30 वर्ष) और राजकुमार की नातिन मीताक्षी (दो वर्ष) शामिल हैं. वहीं, राजकुमार की दूसरी नातिन पांच वर्षीय साक्षी जीवित है. इसके अलावा मृतक राजकुमार का पुत्र सुनील यादव किसी शादी समारोह में शामिल होने के लिए घर से बाहर था, इसलिए वह भी जीवित है. यही नहीं, इस हत्‍याकांड के बाद घर के बेडरूम में आग भी लगी हुई थी जिसे दमकल द्वारा बुझा गया था.

मृतक के बेटे सुनील यादव से मिले शिवपाल सिंह यादव
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने प्रयागराज के इस जघन्य सामूहिक हत्याकांड की निंदा की है. उन्‍होंने पीड़ित परिवार के सदस्‍य सुनील यादव से मिलने के बाद सीएम योगी आदित्‍यनाथ से ऐसी जघन्य घटनाओं पर रोक लगाने की मांग की है. उन्‍होंने पीड़ित परिवार के सदस्‍य सुनील यादव को 50 लाख रुपये, सरकारी नौकरी और सुरक्षा देने की भी मांग की है. साथ ही शिवपाल ने कहा कि यूपी सरकार इसके परिवार में बची पांच साल की मासूम की शिक्षा का खर्च भी उठाए.

बता दें कि इससे पहले 15 अप्रैल को प्रयागराज के गंगापार के नवाबगंज थाना क्षेत्र के खागलपुर गांव में एक ही परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी. इसके अलावा परिवार के मुखिया का शव को फंदे से लटका पाया गया था. पुलिस इस मामले को सुलझाने में लगी हुई थी कि यह और बड़ा हत्‍याकांड हो गया है. वहीं, विपक्ष योगी सरकार की कानून व्‍यवस्‍था पर सवाल उठा रहा है.

आपके शहर से (इलाहाबाद)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Allahabad news, Up crime news, UP police



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here