Rajasthan news in hindi live updates 21 november 2021 rajasthan cabinet expansion gehlot pilot congress rjsr

0
9


जयपुर. राजस्थान में आज गहलोत सरकार (Gehlot Government) नये रूप में सामने आ गई है. करीब डेढ़ साल की लंबी जद्दोजहद के बाद आज गहलोत कैबिनेट का विस्तार (Gehlot cabinet expansion) हो गया है. आज 15 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ले ली है. इन 15 में से 12 नये मंत्री बनाये गये हैं जबकि तीन पुराने राज्यमंत्रियों को प्रमोट कर उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है.  आज 11 विधायकों ने कैबिनेट और 4 ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली है. इस विस्तार के साथ ही राजस्थान में मंत्रिमंडल के सभी 30 पद भर गये हैं. मंत्रिमंडल विस्तार से पहले शनिवार को हुई कैबिनेट की बैठक में सभी मंत्रियों के इस्तीफे ले लिये गये थे.

इससे पहले सरकार और संगठन में दोहरी जिम्मेदारी संभाल तीन मंत्रियों ने इस्तीफे दे दिये थे. इनमें राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा शामिल थे. इनके पास मंत्री पद के अलावा संगठन में बड़ी जिम्मेदारियां हैं. ये तीनों अब ‘एक व्यक्ति, एक पद’ के सिद्धांत पर केवल संगठन में ही काम करेंगे.

कुल 12 नये मंत्री बनाये गये हैं
इनमें हरीश चौधरी पंजाब के प्रभारी हैं. गोविंद सिंह डोटासरा राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष हैं और डॉ. रघु शर्मा गुजरात के प्रभारी हैं. उसके बाद कल हुई कैबिनेट की बैठक के बाद सभी मंत्रियों के इस्तीफे ले लिये गये थे. इन तीन मंत्रियों के अलावा गहलोत सरकार के किसी भी मंत्री को ड्रॉप नहीं किया गया है. आज हुये शपथ ग्रहण समारोह में कुल 12 नये मंत्री बनाये गये हैं. इनके अलावा तीन पुराने राज्यमंत्रियों को कैबिनेट में प्रमोट किया गया है.

विश्ववेन्द्र सिंह और रमेश मीणा की फिर हुई एंट्री
12 नये मंत्रियों में से 5 पायलट गुट के हैं. पायलट गुट के 5 विधायकों में से 3 को कैबिनेट और 2 को राज्यमंत्री बनाया गया है. पायलट गुट के विश्ववेन्द्र सिंह और रमेश मीणा को सियासी संकट के समय मंत्री पद से हटा दिया गया था. दोनों उस समय कैबिनेट मंत्री थे. आज उन्हें फिर से कैबिनेट मंत्री के रूप में शामिल किया गया है. पायलट गुट की मांग थी कि उनके छह विधायकों को मंत्री बनाया जाये. लेकिन पांच को ही शामिल किया गया है.

राजभवन में शाम 4 बजे हुआ शपथ ग्रहण समारोह
शपथ ग्रहण समारोह शाम को चार बजे राजभवन में आयोजित हुआ. यहां राज्यपाल कलराज मिश्र ने सभी नये मंत्रियों को शपथ दिलाई. इससे पहले प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पार्टी के विधायकों की बैठक हुई. उसमें मंत्री बनने वाले विधायकों का स्वागत सम्मान किया गया. गहलोत मंत्रिमंडल के विस्तार होने के साथ ही माना जा रहा है कि अब राजस्थान में सियासी संकट समाप्त हो जायेगा. यह दीगर बात है कि अभी तक सचिन पायलट की भूमिका को लेकर पार्टी में असमजंस बना हुआ है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here