Republic Day 2022: 73वें गणतंत्र दिवस के मौके पर क्‍या-क्‍या हुआ पहली बार, जानिए सब कुछ | On 73rd Republic Day This is what Happened for the first time | Patrika News

0
198


Republic Day 2022: देश में आज 73वा गणतंत्र दिवस (75th Republic Day) मनाया गया, खास बात यह है कि इस बार गणतंत्र दिवस की परेड (Republic Day Parade 2022) में कई ऐसी चीजें भी सामने आईं जो पहली बार हुई हैं। आइए आपको बताते हैं उन चीजों के बारे में।

Republic Day 2022: देश में आज 73वा गणतंत्र दिवस मनाया गया, इस मौके पर देश की राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस की परेड में कई राज्यों की झांकियां देखने को मिली। वहीं भारतीय वायुसेना की तरफ से कई फॉरमेशन तैयार किये गए। जिसमें आजादी के अमृत महोत्सव से जुड़ा अमृत फॉरमेशन भी(75 संख्या के आकार में) दिखाई दिया। बता दें कि इस बार गणतंत्र दिवस की परेड कई ऐसी चीजें भी सामने आईं जो पहली बार हुई हैं।

हिंदुस्तान की शेरनी शिवांगी सिंह:
शिवांगी सिंह देश की पहली महिला राफेल फाइटर जेट पायलट हैं जो बुधवार को गणतंत्र दिवस परेड में भारतीय वायु सेना की झांकी का हिस्सा बनी। शिवांगी IAF की झांकी का हिस्सा बनने वाली अबतक की दूसरी महिला फाइटर जेट पायलट हैं। इस से पहले 72वें गणतंत्र दिवस पर फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ भारतीय एयरफोर्स की झांकी का हिस्सा बनी थीं।

शिवांगी सिंह के बारे में कुछ जानकारी:
बता दें कि शिवांगी सिंह वाराणसी से हैं। उन्होंने 2017 में एयरफोर्स ज्वाइन किया था। वह राफेल उड़ाने से पहले मिग-21 बाइसन विमान की पायलट थीं। शिवांगी पंजाब के अंबाला में स्थित IAF के गोल्डन एरो स्क्वाड्रन का हिस्सा हैं।

यह भी पढ़ें

Republic Day 2022: गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए यह रोचक तथ्य

परेड का समय में बदलाव:
देश में इस साल की गणतंत्र दिवस परेड का समय आगे बढ़ाया गया। पहले सुबह 10 बजे से गणतंत्र दिवस की परेड शुरू होती थी लेकिन मौसम और राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर भारत के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के कारण इस साल की परेड 10:30 बजे शुरू हुई।

अन्य खास चीजें:

– सेना की तीनों टुकड़ियां नई वर्दी और टैवर राइफलों में दिखे।
– 21 तोपों की सलामी के साथ तिरंगा फहराने के बाद लेफ्टिनेंट जनरल विजय कुमार मिश्रा के नेतृत्व में परेड शुरू हुई।
– 75 विमानों के साथ भव्य फ्लाईपास्ट किया गया।
– आजादी के 75 साल पूरे होने पर 17 जगुआर लड़ाकू विमानों ने ‘अमृत’ फॉर्मेशन में उड़ान भरी।
– परेड का समय बदला गया, सुबह 10 की जगह 10.30 किया गया।
– राजपथ का भी नजारा बदला हुआ था। सेंट्रल विस्टा री-डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के अंतर्गत राजपथ को भी नया रूप दिया गया।
– इस साल राजधानी दिल्ली के राजपथ पर भी कुछ बदलाव देखे गए जैसे यहां, लाल रेत की जगह कई नये फुटपाथ जोड़े गए, जिसकी वजह से 12 से 15 किलोमीटर का लंबा मार्ग और तैयार हो गया है। राजपथ के किनारे बहने वाली नहर पर 16 नये पुल बनाए गये हैं। इसके अलावा लाल ग्रेनाइट पत्थर की 422 बेंच लगाई गई है। जिससे अधिक लोगों को बैठने में सुविधा मिले। वहीं 900 से अधिक लाईट पोस्ट लगाई गई हैं। राजपथ आने वालों को परेशानी ना हो इसके लिए चार नये अंडरपास निर्मित किये गये हैं। पार्किंग के लिए जगह बढ़ाई गई है। मौजूदा हालत में 50 बसें और 1000 कारें पार्क की जा सकती हैं।

यह भी पढ़ें

क्या वीकेंड कर्फ्यू वाले दिन भी चलती है दिल्ली मेट्रो, जानिए क्या कहती है गाइडलाइन





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here