Samastipur mp mla court pronounces punishment to former jdu mla rambalak singh and his brother in arms act case nodmk8

0
22


समस्तीपुर. बिहार के समस्तीपुर (Samastipur) के एमपी-एमएलए कोर्ट (MP-MLA Court) ने सीपीएम के नेता ललन सिंह पर हुए जानलेवा हमला मामले में सोमवार को सजा का ऐलान कर दिया. अदालत ने जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के प्रदेश महासचिव और पूर्व विधायक रामबालक सिंह और उनके भाई लाल बाबू सिंह को पांच साल की सजा सुनाई है. साथ ही 15,000 रुपया अर्थदंड (जुर्माना) लगाया है. पूर्व विधायक को सजा होने की जानकारी मिलते ही उनके समर्थकों में मायूसी छा गई.

पीड़ित पक्ष के वकील सुनील कुमार कर्ण ने बताया कि विभूतिपुर थाना कांड संख्या 62/2000 में हत्या करने की नीयत से फायरिंग करने के मामले में पूर्व जेडीयू विधायक रामबालक सिंह और उनके भाई लालबाबू को दोषी पाया. जिसमें न्यायालय ने उन्हें पांच साल की सजा और 15,000 रुपये का जुर्माना लगाया है. समस्तीपुर एडीजे 3 एमपी-एमएलए कोर्ट ने 27 आर्म्स एक्ट के धारा में दोषियों को पांच साल की सजा, धारा 324 मामले में तीन साल की सजा, धारा 323 में एक साल की सजा और धारा 341 में एक महीने की सजा के साथ 15,000 रुपये का अर्थदंड भी सुनाया है. सभी सजा एक साथ चलेंगे.

बता दें कि यह घटना चार जून, 2000 की है जब सीपीएम के नेता ललन सिंह विभूतिपुर थाना क्षेत्र के शिवनाथपुर में एक शादी समारोह में शामिल होने गए थे. उसी जगह रामबालक सिंह और उनके भाई के द्वारा उन्हें मारने का प्रयास किया गया. लेकिन वहां मौजूद लोगों ने बीच-बचाव करते हुए उन्हें बचा लिया. इस दौरान मौका देखकर ललन सिंह वहां से भाग निकले. मगर रामबालक सिंह और उनके भाई लाल बाबू सिंह ने मोटरसाइकिल से पीछा कर उन्हें पकड़ लिया और उनके ऊपर गोली चला दी. इस हमले में ललन सिंह जख्मी हो गए थे.

अदालत का फैसला आने के बाद ललन सिंह ने प्रसन्नता व्यक्त की. उन्होंने कहा कि अगर इस मामले को लेकर पूर्व विधायक रामबालक सिंह हाईकोर्ट जाते हैं तो वहां भी वो न्याय की लड़ाई लड़ेंगे. वहीं, इस मामले में रामबालक सिंह के वकील अमिताभ भारद्वाज का कहना है कि वो कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं. लेकिन वो हाईकोर्ट में इसके विरुद्ध अपील करेंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here