Sikanderpur Assembly Seat Result Live: 2017 में पहली बार खिला ‘कमल’, जानिए इस बार किस ओर बह रही सियासी हवा

0
59


बलिया. उत्तर प्रदेश के पूर्वी छोर पर स्थित बलिया जिले की विधानसभा सीट है, सिकंदरपुर (Sikanderpur Assembly Election Result live). एक समय पर सिकंदपुर को गुलाब नगरी कहा जाता था. यहां गुलाब की खेती खूब होती थी और इत्र विदेश में एक्सपोर्ट होते थे. लेकिन अब गुलाब की खेती का रकबा सिमट गया है. 2017 से पहले तक इस सीट पर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार जीतते आ रहे थे. लेकिन 2017 के विधानसभा चुनावों में यूपी की जिन सीटों पर मोदी लहर के चलते जीत मिली थी, उनमें से सिकंदरपुर भी एक थी. तब पहली बार यहां ‘कमल’ खिला था.

भाजपा के संजय यादव (BJP Sanjay Yadav) ने निवर्तमान विधायक वह सपा प्रत्‍याशी जियाउद्दीन रिजवी (SP Mohammed Ziauddin Rizvi) को 23 हजार से अधिक वोटों से हराया था. इससे पहले तक भाजपा इस सीट पर किसी भी चुनाव में दूसरे नंबर तक की पार्टी नहीं बनी थी. इस बार भी भाजपा और सपा ने इन्हीं दो उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है. कांग्रेस की तरफ से बृजेश सिंह गाट (Congress Brijesh Singh) किस्मत आजमा रहे हैं. जबकि बसपा ने संजीव कुमार वर्मा (Sanjeev Kumar Verma) को मौका दिया है.

सिकंदरपुर सीट पर 4 बार कांग्रेस जीती
बलिया जिले की सिकंदरपुर विधानसभा सीटपर पहला चुनाव 1962 में हुआ था. तब कांग्रेस जीती थी. इस सीट पर कुल चार बार कांग्रेस जीती है. मार्कंडेय ने आखिरी बार 1991 में कांग्रेस को जीत दिलाई थी. 1993 में सपा के दीनानाथ चौधरी ने कांग्रेस से यह सीट छीन ली. 1996 में सोशल एक्‍शन पार्टी के राजधारी ने कब्‍जा कर लिया. 2002 और 2012 में सपा के जियाउद्दीन रिजवी ने जीत दर्ज की थी. 2007 में यह सीट बसपा के पास चली गई थी.

2017 विधानसभा चुनाव के नतीजे 
भाजपा उम्‍मीदवार संजय यादव ने पिछले चुनाव में 69536 वोट पाकर जीत दर्ज की थी. दूसरे स्‍थान पर रहे सपा के जियाउद्दीन रिजवी को 45988 वोट मिले थे. 34968 वोट लेकर बसपा के राजनारायण तीसरे स्‍थान पर थे. 2.86 लाख वोटरों वाली सिकंदरपुर विधानसभा सीट पर क्षत्रिय वोटर करीब 30 हजार हैं. 25-25 हजार यादव, राजभर और मुस्‍लिम हैं. ब्राह्मण 16 हजार और भूमिहार मतदाताओं की संख्‍या लगभग 15 हजार है.

ऐसा माना जाता है कि सिकंदरपुर सीट पर मुस्लिम और ओबीसी जिस पार्टी की तरफ रुख करते हैं, उसी का विधायक जीतता है. मुस्लिम वोटबैंक की भूमिका काफी अहम होती है. सपा और बसपा के बीच सीधा मुकाबला होने की यह एक बड़ी वजह रही है.

आपके शहर से (बलिया)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Assembly elections, Uttar Pradesh Elections



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here