Skywalk Traveler to be built at Bodaki railway station in Greater Noida Delhi NCR dlnh

0
25


नोएडा. ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) का बोड़ाकी रेलवे स्टेशन दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) का नंबर वन स्टेशन बनने जा रहा है. बोड़ाकी से पूर्वी यूपी के साथ-साथ बिहार और पश्चिम बंगाल के लिए भी ट्रेन मिलेगी. यहां बस अड्डे (Bus Station) के सादिथ ही मेट्रो ट्रेन (Metro Train) की सुविधा भी मिलेगी. लेकिन इसके साथ ही एनसीआर के दूसरे स्टेशन के मुकाबले बोड़ाकी से ट्रेन पकड़ना ज्यादा आरामदायक हो जाएगा. हाथ में भारी-भरकम लगेज लेकर ट्रेन के पीछे नहीं भागना होगा. रेलवे स्टेशन से मेट्रो स्टेशन जाना हो या मेट्रो स्टेशन से बस अड्डा, स्काईवॉक ट्रैवलर (Skywalk Traveler) की मदद से सामान के साथ कुछ ही मिनट में पहुंच जाएंगे.

500 मीटर के एरिया में चलेगा स्काई वॉक ट्रैवलर

ग्रेटर नोएडा के बोड़ाकी में एक पुराना रेलवे स्टेशन हैं. लेकिन अब यहां मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक हब तैयार करने की योजना पर काम हो रहा है. इसके लिए 7 गांवों की 478 हेक्टेयर जमीन अधिग्रिहित की जा रही है. जानकारों की मानें तो 80 जमीन का अधिग्रहण हो चुका है. योजना के तहत यहां रेलवे स्टेशन, मेट्रो ट्रेन और बस अड्डा भी तैयार किया जा रहा है. तीनों ही जगह आने-जाने में यात्रियों को किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो. भारी-भरकम सामान लेकर ट्रेन और बस के लिए दौड़ न लगानी पड़े, इसके लिए स्काई वॉक ट्रैवलर बनाने की योजना पर भी काम शुरु हो गया है.

जानकारों की मानें तो स्काई वॉक ट्रैवलर रेलवे स्टेशन, मेट्रो ट्रेन और बस अड्डे को जोड़ते हुए 500 मीटर के एरिया में तैयार किया जाएगा. इसमे करना यह होगा कि यात्री अपना सामान लेकर ट्रैवलर पर खड़े हो जाएंगे और ऑटोमेटिक तरीके से वो चलने लगेगा.

Noida-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे पर अब नहीं लगेगा जाम, जानिए अथॉरिटी का प्लान

ऐसे तैयार हो रहे हैं लॉजिस्टिक और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो अब तक केन्द्र सरकार की ओर से लॉजिस्टिक और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब के लिए के लिए 850 करोड़ रुपये मिल चुके हैं. 500 करोड़ रुपये की दूसरी किस्त अभी हाल ही में मिली है. यह दोनों हब बोड़ाकी रेलवे स्टेशन के पास बनेंगे. यह स्टेशन ग्रेटर नोएडा में है. सामान की लोडिंग-अनलोडिंग के लिए यार्ड बनेंगे.

बोड़ाकी में 16 रेल लाइन बिछाई जाएंगी. इन सभी रेल लाइन को दिल्ली-हावड़ा मुख्य रेल लाइन से जोड़ा जाएगा. कोल्ड चेन और पैकेजिंग का काम करने के लिए भी प्लटेफार्म तैयार किए जाएंगे. वेयर हाउस हब के लिए भी जगह छोड़ी जा रही है. इस प्रोजेक्ट के तहत लगभग 800 एकड़ में इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप बसाई जाएगी. केन्द्र सरकार, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की हिस्सेदारी के साथ ही प्रोजेक्ट में शामिल होने वाली दो कंपनियां भी अपना हिस्सा लगाएंगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here