SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे | Major accident in SSB camp, 3 soldiers died due to Electrocution | Patrika News

0
13


बिहार के सुपौल से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां एसएसबी कैंप में हाई वोल्टेज तार की चपेट में आने से 3 जवानों की मौत हो गई है। वहीं 8 जवान घायल बताए जा रहे हैं। इनमें 4 की हालत गंभीर बताई जा रही है। सभी जवान 45वीं बटालियन के हैं।

नई दिल्ली

Published: January 14, 2022 05:48:35 pm

बिहार के सुपौल में शुक्रवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां करंट लगने से SSB की 45वीं बटालियन के तीन जवानों की मौके पर ही मौत हो गई है, जबकि इस हादसे में 8 जवान घायल हो गए है। सभी घायलों को इलाज के लिए वीरपुर अनुमंडलीय अस्पताल में ले जाया गया, जहां उनका उपचार चल रहा है। इन घायलों में 4 की हालत गंभीर बनी हुई है। ऐसे में मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। गंभीर चारों जवानों को दरभंगा के अस्पताल रेफर कर दिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक हाई वॉल्टेज तार को हटाने के लिए पहले की कई बार शिकायत की जा चुकी थी, लेकिन इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया गया था। इस बड़े हादसे के बाद अब कई सवाल उठ रहे हैं।

ये है पूरा मामला

मिली जानकारी के मुताबिक वीरपुर कैंप में 45वीं बटालियन के कमांडेंट एचके गुप्ता का ट्रांसफर हो गया है। इसी क्रम में उनके विदाई समारोह का आयोजन किया गया था। समारोह के लिए टेंट और तंबू लगाया गया था। कार्यक्रम की समाप्ति के बाद शुक्रवार को दोपहर के करीब साढ़े बारह बजे के आसपास ट्रेनी जवानों को टेंट खोलने के लिए लगाया गया। इसी दौरान ऊपर से गुजर रहे हाई वोल्टेज तार से टेंट का एक पाइप सट गया और करंट पूरे टेंट में उतर आया। इस करंट के चपेट में काम कर रहे सभी जवान आ गए।

यह भी पढ़ेँः बिहार के सिवान में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या, राशन लेने के बहाने आए थे अपराधी

मामले की सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया। जानकारी मिलते ही तुरंत घायलों को नजदीकी वीरपुर के ललित नारायण अनुमंडलीय अस्पताल में ले जाया गया। इनमें से 4 जवानों की हालात गंभीर बताई जा रही है, इन चारों को दरभंगा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। जहां डॉक्टरों की टीम इनका इलाज कर रही है।

यह भी पढ़ेँः बिहार में मुख्यमंत्री आवास पर कोरोना विस्फोट, करीब 22 फीसदी कर्मी हुए कोरोना पॉजिटिव

तार हटाने को पहले कहा गया था

सशस्त्र सीमा बल की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक ‘बिजली विभाग को ट्रेनिंग वाले मैदान से हाई वोल्टेज तार एवं पोल को हटाने के लिए कई बार लिखा गया, लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों की ओर से इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। ऐसे में जिस बात की आशंका थी वहीं हुआ और बड़ा हादसा हो गया। फिलहाल पुलिस ने मामले दर्ज कर लिया और मामले की जांच की जा रही है।

अगली खबर





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here