Statue of mayawati and elephant in dalit park in noida covered during up assembly election dlnh

0
26


नोएडा. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) का ऐलान हो चुका है. आचार संहिता लगने के बाद सभी सियासी दलों के चिन्ह्र, झंडे और पार्टी की पहचान कराने वाली चीजों को हटाना या ढकना शुरू हो गया है. गौतम बुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar) पुलिस-प्रशासन मिलकर हजारों की संख्या में झंडे, बैनर-पोस्टर हटा चुके हैं. लेकिन नोएडा में ही दलित प्रेरणा स्थल में लगीं हाथियों की मूर्ती को नहीं ढका जाएगा. नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) की ओर से इस तरह के आदेश पार्क मैनेजर को दिए जा चुके हैं. चुनावों के दौरान सिर्फ पार्क में लगीं बसपा (BSP) सुप्रीमो की मूर्तियां ही ढकी जाएंगी. आदेश आने के फौरन बाद से बसपा सुप्रीमो की मूर्तियों को ढक दिया गया है.

इसलिए नहीं ढके जाएंगे पार्क में लगे हाथी

चुनाव के दौरान नोएडा के दलित प्रेरणा स्थल में लगे हाथी नहीं ढके जाएंगे. इसके पीछे की वजह बताते हुए प्रेरणा स्थल की मैनेजर पारुल सेन ने न्यूज18 को बताया कि प्रेरणा स्थल में लगे हाथी बसपा के चुनाव चिन्ह जैसे हाथी नहीं हैं.

हमारे यहां लगे हाथियों की मुद्रा वैसी है जब हाथी स्वागत करने के लिए अपनी सूंड उठाता है. जबकि बसपा का चुनाव चिन्ह वाले हाथी की सूंड सीधी जमीन की ओर हैं. इसलिए नोएडा अथॉरिटी की ओर से मिले आदेशों के मुताबिक हाथियों को नहीं ढका जाएगा. जबकि बसपा सुप्रीमो मायावती की मूर्तियों को पूरी तरह से ढका जा चुका है.

नोएडा के सैकड़ों फ्लैट खरीदारों को वापस मिलेगा पूरा पैसा, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश

अभी सिर्फ सार्वजनिक जगहों से हटाई है प्रचार सामग्री

जानकारों की मानें तो आचार संहिता लगने के बाद तीन चरण में प्रचार सामग्री हटाई जाती है. पहले 24 घंटे में सार्वजनिक जगहों से, 48 घंटे में स्थानीय निकाय से और 72 घंटे में निजी संपत्ति से बैनर और पोस्टरों को हटाया जाता है. इसी के चलते आचार संहिता लगने के 48 घंटे बाद सार्वजनिक जगहों से 27463 बैनर-पोस्टर और दीवार पेटिंग को हटाया जा चुका है. इसमे सभी दलों के बैनर-पोस्टर शामिल हैं.

आपके शहर से (नोएडा)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: BSP, Noida Authority



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here