Success Story: लखनऊ में सेल्समैन की नौकरी छोड़ बन गया B.Com चाय वाला, कमाई जानकर रह जाएंगे हैरान

0
14


रिपोर्ट: अंजलि सिंह राजपूत

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में इन दिनों युवाओं के बीच B.Com चायवाला काफी मशहूर हो रहा है. इनका नाम है धीरज यादव. 22 वर्षीय साल के धीरज यादव बाबू बनारसी दास और पॉलिटेक्निक चौराहे के बीच सड़क किनारे छोटा सा ठेला लगाते हैं. B.Com चायवाला की चाय की चुस्कियां और इनका नाम लोगों को आकर्षित कर रहा है. धीरज ने बताया कि वह कुशीनगर के रहने वाले हैं, उन्होंने लखनऊ से ही बीकॉम की पढ़ाई करने के बाद एक छोटी सी कंपनी में सेल्समैन की नौकरी करने लगे. वहां पर अधिकारियों के दबाव में 8 हजार रुपए माह की सैलरी पर नौकरी कर रहे थे. इतना ही नहीं उन्हें जब घर जाना होता था तो छुट्टी भी नहीं मिलती थी.

इन्हीं सब से तंग आकर उन्होंने सेल्समैन की नौकरी छोड़ दी और अपने घर कुशीनगर लौट गए. वहां पर अपने घर वालों से बताया कि वह चाय की दुकान लगाना चाहते हैं. बीकॉम चाय वाले के नाम से लेकिन परिवार वालों ने इज्जत का हवाला देकर कुशीनगर में लगाने से मना कर दिया. जिसके बाद उन्होंने लखनऊ का रुख किया. उनके पास जो भी जमा पूंजी थी उसी से ठेला समेत दूसरे सामानों को खरीदा और पिछले 4 महीने से बीकॉम चाय वाले के नाम से वह चाय का ठेला लगा रहे हैं.

बाबू बनारसी दास या आसपास के दूसरे संस्थान सभी बच्चे उनके पास चाय पीने के लिए आते हैं. उन्होंने बताया कि भविष्य में वह इसी को अपना स्टार्टअप बनाकर आगे बढ़ना चाहते हैं. धीरज बताते हैं कि एक दिन में करीब ढाई हजार रुपए कमा लेते हैं. मतलब महीने भर में 60 हजार रुपए से ज्यादा की आमदनी हो जाती है जो सेल्समैन की नौकरी के वेतन से कई गुना ज्यादा है. सुबह 5:00 बजे से लेकर रात 10:00 बजे तक वह यहां पर अपनी दुकान लगाते हैं.‌ कोई भी उनसे संपर्क करना चाहे तो इस मोबाइल नंबर 9984495594 पर बात कर सकता है.

तीन तरह की चाय है मशहूर
धीरज यादव तीन तरह की चाय बनाते हैं. पहली चाय पान मसाला चाय जो कि 20 रुपए की है. दूसरी इलायची चाय 15 रुपए की है और सिर्फ मसाला चाय 25 रुपए की है.

इन तीनों चाय में मसालों के साथ ही बहुत मन से चाय बनाते हैं जिसके चाय का स्वाद और भी खास हो जाता है.

Tags: Lucknow news, Success Story, Tea, UP news, World Students Day



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here