Supertech Twin Towers: ट्विन टावर ढहाने से कंपन न हो, इसलिए निकाली ये नायाब तरकीब

0
26


रिपोर्ट: आदित्य कुमार

नोएडा. साल 2021 में सुप्रीम कोर्ट ने नोएडा सेक्टर 93ए में स्थित सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने का आदेश दिया था, लेकिन सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए लगातार ध्वस्त करने की तारीख को आगे बढ़ा दिया जाता था. बहरहाल अब कोर्ट के नए आदेश के अनुसार 21 अगस्त 2022 को इस विवादित ट्विन टावर को ब्लास्ट कर गिराया जाएगा. इस बीच विस्फोट के साथ जब इमारत गिरेगी तो उसके कंपन को कम करने के लिए कुशन का सहारा लिया जाएगा, जिसके लिए ट्विन टावर को कुशन से ढक दिया गया है.

इस विवादित ट्विन टावर को गिराने का ठेका लेने वाली कंपनी एडिफिस और अफ्रीका बेस्ड कंपनी जेट कंपनी है. उसी कंपनी के अधिकारियों की मानें तो यह कुशन विस्फोट होने के बाद कंपन को कम करेगा, साथ ही धूल को भी कम करेगा. इसलिए इमारत के चारों तरफ कुशन को लगवा दिया गया है. इससे मलबा भी कम होगा और जो मलबा निकलेगा उसे कुशन रोककर रखेगी.

हमारी सुरक्षा के लिए जो भी करे मंजूर
ट्विन टावर के पास एटीएस और सुपरटेक की भी सोसायटी भी है. बगल में गेझा गांव भी है जिसे बचाना एक चुनौती है. यहां के निवासी अंकुर बताते हैं कि यह टावर गिराने के लिए जो भी प्रयास किये जाएं वो करें. यह पर्दा भी हमारी बचाव के लिए फायदेमंद है. अंकुर बताते हैं कि यह दोनों इमारत नियमों को ताक पर रखकर बनाई गई थीं.

3500 किलो विस्फोटक लगेगा, किये गए 6000 छेद
एडिफिस कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि इसमें अप्रैल माह में ट्राइल ब्लास्ट किया गया था. इसके बाद यह पता चला कि दोनों टावर को गिराने के लिए 3500 किलो विस्फोटक की जरूरत पड़ेगी. इन विस्फोटक को फिट करने के लिए पूरी इमारत में 6000 छेद किये गए हैं.

Tags: Noida news, Supertech twin tower, Supertech Twin Tower case, Supreme Court



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here