The policeman’s land was dug up, the SHO also pressured the settlement instead of the case. | पुलिसवाले की जमीन खाेद बना डाली खदान, थानेदार ने भी केस के बजाय समझौते का दबाव बनाया

0
17


धनबाद3 घंटे पहलेलेखक: विकास सिंह

  • कॉपी लिंक

किसी का डर नहीं, खुलेआम दिन-रात हो रहा खनन

  • भास्कर इन्वेस्टिगेशन : काेयले के काले कारोबार में व्यवस्था की मार देखिए, अपने विभाग वाले भी सुनने को तैयार नहीं

काेयले के काले काराेबार में जुटे माफिया की हिमाकत देखिए…वे पुलिसवाले की जमीन कब्जा करने से भी नहीं हिचकिचाते। ऐसा ही मामला चिरकुंडा थाना क्षेत्र के चांचपाेटरी में डुमरीजाेड़ माैजा में सामने आया। यहांं काेयला तस्कराें ने धनबाद के सुदामडीह थाने में तैनात सिपाही छाेटूलाल यादव की छह डिसमिल जमीन काे खाेदकर खदान बना डाली। जमीन पर कई मुहाने बनाकर दिन-रात काेयला निकाल रहे हैं। सिपाही ने 23 दिसंबर काे डीसी व एसएसपी समेत चिरकुंडा थाना यादव, ग्रामीण एसपी व एसडीओ काे आवेदन देकर खदान बंद कराने और कार्रवाई की मांग की। सिपाही ने पांच तस्करों के नाम भी पुलिस को बताए।

किसी का डर नहीं, खुलेआम दिन-रात हो रहा खनन
चिरकुंडा थाना क्षेत्र में चांचपोटरी में डुमरीजोड़ मौजा (260) खाता नंबर 069, प्लॉट नंबर 411 की यही जमीन सिपाही छोटूलाल की है। उसकी इसी जमीन पर तस्कर सुरंगें बना कर कोयले का अवैध खनन कर रहे हैं, जिसे आसपास के डिपो और भट्‌ठों पर सप्लाई किया जाता है।

सिपाही की शिकायत पर कार्रवाई की जगह थानेदार दिलीप कुमार यादव ने मांगे जमीन के कागज, ग्रामीण एसपी रिष्मा ने फरियाद पर नहीं की कार्रवाई

  • थानेदार : पहले कागज लाओ
  • सिपाही-सर, 23 दिसंबर को ही अर्जी दी थी, अभी तक एफआईआर नहीं हुई?
  • थानेदार-पहले जमीन का कागज लाओ।
  • सिपाही-अभी गश्ती में हूं। सुदामडीह से चिरकुंडा दूर है। वाॅट्सएप पर भेज दूं।
  • थानेदार-नहीं, कागज लेकर थाना आओ। छुट्‌टी ले लो।
  • थानेदार ने तस्करों से कराई बैठक
  • सिपाही छोटूलाल ने बताया-शुक्रवार को कागज लेकर थाना पहुंचा ताे थानेदार ने तस्करों को बुलाया। उससे कहा गया कि 80 हजार लेकर समझौता कर लो। लेकिन जब तैयार नहीं हुआ तो कहा-चलो, कल केस नंबर ले लेना।
  • ग्रामीण एसपी : केस दर्ज हाे, तब बताना
  • सिपाही-मैडम, मैं सुदामडीह थाना का सिपाही हूं। मेरी जमीन को खोदकर तस्कर कोयला निकाल रहे हैं।
  • ग्रामीण एसपी-सुदामडीह मेरा क्षेत्र नहीं है।
  • सिपाही-मैडम, जमीन आपके क्षेत्र चिरकुंडा में है।
  • ग्रामीण एसपी-तो केस करो न।
  • सिपाही-मैडम, मैंने 23 दिसंबर को चिरकुंडा थाना में अर्जी दी, पर केस नहीं हो रहा है।
  • ग्रामीण एसपी-केस होगा, तभी कार्रवाई कर पाऊंगी।
  • तस्कर : पुलिस केस दर्ज नहीं करेगी
  • सिपाही : देखो, जमीन और बाउंड्री पर 5.80 लाख रुपए खर्च हुए। तुम वह पैसा ही दे दो। मैं केस नहीं करूंगा।
  • तस्कर जीतेंद्र : केस तो हुआ नहीं। तुम्हारे आवेदन पर पुलिस केस दर्ज नहीं करेगी। वैसे पैसे के लिए सिंडिकेट से बात करना होगा। मेरा नाम लेना बंद करो।

सभी से बातचीत की ऑडियो रिकॉर्डिंग भास्कर के पास है

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here