Tokyo Paralympics Haryana government announces a reward of Rs 6 crores for Manish Narwal and Rs 4 Crores for Singhraj Adhana nodark – News18 Hindi

0
18


फरीदाबाद. हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) में शूटिंग पी4 मिक्स्ड 50 मीटर पिस्टल एसएच1 में स्वर्ण पदक जीतने वाले मनीष नरवाल को 6 करोड़, तो रजत पदक विजेता सिंहराज अधाना को 4 करोड़ रुपये का इनाम देने की घोषणा की है. इसके साथ हरियाणा सरकार ने दोनों खिलाड़ियों को बधाई भी दी है. बता दें कि 19 साल के नरवाल ने पैरालंपिक का रिकॉर्ड बनाते हुए 218.2 स्कोर किया. वहीं अधाना ने 216.7 अंक बनाकर रजत पदक अपने नाम किया है. यह दोनों निशानेबाज हरियाणा के फरीदाबाद के रहने वाले हैं.

इसके साथ ही टोक्यो ओलंपिक में भारत की पदकों की संख्या 15 हो गई है. भारत ने अब तक तीन स्‍वर्ण, सात रजत और पांच कांस्‍य पदक जीते हैं. जबकि निशानेबाजी में भारत 5 पदक जीत चुका है. सिंहराज का टोक्यो पैरालंपिक में यह दूसरा पदक है. इससे पहले उन्‍होंने पैरालंपिक खेलों में 31 अगस्त को पी1 पुरुष 10 मीटर एयर पिस्टल एसएच1 में कांस्य पदक जीता था.

नियमित अभ्यास से बनी बात
स्वर्ण जीतने के बाद मनीष नरवाल ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं. जबकि नरवाल का परिवार 2016 में उन्हें पास की एक निशानेबाजी रेंज में ले गया और वह तुरंत इस खेल की ओर आकृष्ट हुए. वह नियमित अभ्यास करते रहे लेकिन उस समय उन्हें पैरालम्पिक खेलों के बारे में नहीं पता था. कोच जयप्रकाश नौटियाल ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और उन्होंने 2017 बैंकाक विश्व कप में पी1 एयर पिस्टल एसएच1 स्पर्धा में व्यक्तिगत वर्ग का स्वर्ण जीता.

जबकि अधाना ने जीत के बाद कहा कि आज फाइनल बहुत कठिन था. जब मैं तीसरे स्थान पर था तो मैंने खुद से कहा कि सिंहराज अच्छा प्रदर्शन, रूको, सांस लो, रूको, ओके. एक शॉट, बस एक शॉट. कोई और बात मेरे दिमाग में चल ही नहीं रही थी. इसके अलावा फाइनल मैच में पहनी हैट के बारे में उन्होंने कहा कि यह मेरी पत्नी ने मुझे तोहफे में दी थी और मेरे लिए लकी है.

Haryana News: दुष्यंत चौटाला का ऐलान, बोले- हरियाणा के 500 डिपुओं को बनाएंगे ‘ग्राहक सेवा केंद्र’, जानें किसे होगा फायदा

सिंहराज की मां बोलीं- ऐसा शेर है मेरा
इस बीच हरियाणा के बल्लभगढ़ के रहने वाले सिंहराज की मां वेदवत्ती ने टोक्यो पैरालंपिक शूटिंग में रजत पदक जीतने पर कहा कि मैं बहुत-बहुत खुश हूं. मेरे बेटे सिंहराज ने पूरे देश में नाम रोशन कर दिया, ऐसा शेर है मेरा. वहीं, सिहंराज के घर जीत का जमकर जश्‍न हुआ.

बहरहाल, एसएच1 वर्ग में निशानेबाज एक ही हाथ से पिस्टल पकड़ते हैं क्योंकि उनके एक हाथ या पैर में विकार होता है जो रीढ़ की में चोट या अंग कटने की वजह से होता है. कुछ निशानेबाज खड़े होकर तो कुछ बैठकर निशाना लगाते हैं.

पीएम मोदी ने दोनों की दी बधाई
वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो पैरालंपिक में भारत को पदक दिलाने वाले मनीष नरवाल और मधाना को बधाई दी है. उन्‍होंने टोक्यो पैरालंपिक में स्वर्ण पदक जीतने पर मनीष नरवाल को बधाई देते हुए ट्वीट में कहा,’मनीष नरवाल की शानदार उपलब्धि. उनका स्वर्ण पदक जीतना भारतीय खेलों के लिए एक विशेष क्षण है. उन्हें बधाई और आने वाले समय के लिए शुभकामनाएं.’ इसके अलावा पीएम नेरजत पदक जीतने पर सिंहराज अधाना देते हुए लिखा, ‘उनके इस करतब से भारत खुश है. उन्हें बधाई और भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं.’

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here