two doctors arrested in raipur rajdhani covid hospital fire case

0
21


रायपुर स्थित राजधानी अस्पताल में पिछले दिनों लगी थी आग.

17 अप्रैल को राजधानी हॉस्पिटल में आग लगने से 6 मरीज़ों की जान जाने के मामले में संयुक्त टीम जांच कर रही है और पुलिस का कहना है कि हर पहलू पर बारीकी से ध्यान दिया जा रहा है.

रायपुर. राजधानी हॉस्पिटल में हुए भीषण अग्निकाण्ड के मामले में अंतत: दो डॉक्टरों की गिरफ्तारी हो गई है. संचालक मण्डल के दो सदस्यों को टीकरापारा पुलिस ने गिरफ्तार किया है. 17 अप्रैल को कोविड अस्पताल के आईसीयू वार्ड में शॉट सर्किट की वजह से आग लगी थी, जिसमें 6 कोविड मरीज़ों की जान दम घुटने और जलने के बाद हुई थी. इस मामले की जांच संयुक्त टीम कर रही थी. आज इस मामले में दो चिकित्सकों की गिरफ्तारी हुई. रायपुर के राजधानी सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल में हुए अग्निकांड मामले में अस्पताल संचालक मंडल के दो डॉक्टरों सचिन मल और अरविंदो राय को गैर इरादतन हत्या के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है. टिकरापारा थाने में गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज होने के बाद गिरफ्तारी हुई है. ये भी पढ़ें : चार धाम यात्रा के लिए SOP जारी, जानें कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के साथ क्या हैं और शर्तें जांच में इसलिए हुई देरआगजनी काण्ड के बाद स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने संयुक्त रुप से जांच की. कोविड अस्पताल होने की वजह से 7 दिनों तक जांच दल को इंतजार करना पड़ा क्योंकि सभी को कोरोना वायरस के संक्रमण का डर था.

raipur news, chhattisgarh news, raipur hospital fire, covid hospital fire, रायपुर न्यूज़, छत्तीसगढ़ न्यूज़, रायपुर अस्पताल ​अग्निकांड, कोविड अस्पताल अग्निकांड

दो डॉक्टरों पर गैर इरादतन हत्या का केस.

​अस्पताल की लापरवाही आई सामने
टीम ने जांच में पाया कि फायर सेफ्टी के जो नॉर्म्स थे उन्हें पूरा नहीं किया गया. आग बुझाने के लिए कोई एक्सपर्ट भी हॉस्पिटल में मौजूद नहीं थे. एएसपी लखन पटले ने कहा कि मामले की जांच गंभीरता से की जा रही है. पुलिस हर बिन्दु पर बारीकी से जांच कर रही है. लापरवाही बरतने वाले आरोपियों पर सख्त कार्रवाई होगी. ये भी पढ़ें : एंबुलेंस नहीं मिली तो कोविड मरीज को सड़क पर बैठकर करना पड़ा इंतजार गौरतलब है कि एक तो भीषण आग और दूसरे कोरोना के डर के चलते अस्पताल में आग लगने पर लोगों को बचाना मुश्किल हो गया था. 4 फायर फाइटरों ने मानवता काी मिसाल पेश तरते हुए दर्जनों लोगों की जान बचाई थी.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here