UP: काशी में गंगा की लहरों पर होगा ‘तमिल संगमम’, दक्षिण भारत के 38 जिलों से लोग होंगे शामिल

0
14


रिपोर्ट- अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. भोले की नगरी काशी (Kashi) में तमिलनाडु की कला संस्कृति की झलक देखने को मिलेंगी. इसके लिए वाराणसी (Varanasi) में पहली बार काशी-तमिल संगमम (Kashi-Tamil Sangmam) का आयोजन किया जा रहा है. वाराणसी में आयोजित इस कार्यक्रम में पूरे 1 महीने तक तमिलनाडु के अलग-अलग जगहों से लोग काशी आएंगे और यहां बाबा विश्वनाथ धाम के दीदार के अलावा, गंगा स्नान, सारनाथ, बीएचयू सहित विभिन्न जगहों का भ्रमण कर यहां की संस्कृति और कला को समझेंगे.

इसके अलावा तमिलनाडु से आए विभिन्न सांस्कृतिक टोली काशी में अपना सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत करेंगे. साथ ही साथ वहां के हैंडी क्रॉफ्ट प्रोडक्ट की प्रदर्शनी भी यहां लगाई जाएगी. इसके अलावा रविदास घाट पर विभिन्न कार्यक्रम होंगे और वहां के फेमस फूड का जायजा भी यहां चखने को मिलेगा. इन सब से इतर काशी और तमिलनाडु के विद्वान सेमिनार के जरिए दोनों राज्यों के संस्कृति और सभ्यता पर चर्चा कर सभी पहलुओं के बारे में सीखने का एक अनूठा अनुभव होगा. बीएचयू और बड़ा लालपुर स्थित टीएफसी सेंटर में ये आयोजन होंगे.

तमिलनाडु के 38 शहरों से आएंगे लोग
केंद्रीय मंत्री धमेंद्र प्रधान ने बताया कि काशी तमिल संगमम दो राज्यों के परम्पराओं का संगम है और इससे दोनों राज्यों के रिश्ते और भी मजबूत होंगे. तमिलनाडु के 38 शहरों से 12 ग्रूप इस संगमम में शामिल होंगे.दो-तीन दिन के अंतराल पर ये ग्रुप वाराणसी आएंगे. जिसमें छात्र, विद्वान, व्यापारी, कलाकार, ग्रामीण सहित दूसरे लोग शामिल होंगे. 17 नवंबर से इसकी शुरुआत होगी जो पूरे 1 महीने तक चलेगा. अलग-अलग दिनों में कई जगह कार्यक्रम होंगे जिससे दोनों राज्यों के रिश्ते और मधुर होंगे. काशी के बाद ये दल प्रयागराज और फिर अयोध्या भी जाएगा.

Tags: Ganga river, Kashi Vishwanath Temple, Tamilnadu news, UP news, Varanasi news, Varanasi Police



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here