UP Assembly Session: सपा लाएगी विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव, सरकार ने भी बनाई ख़ास रणनीति

0
16


हाइलाइट्स

नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव सदन में दिखा सकते हैं आक्रामक तेवर
हंगामे के आसार को देखते हुए सरकार की तरफ से जवाब देने की तैयारी
सपा की तरफ से लाया जाएगा विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव

लखनऊ. यूपी विधानसभा के मॉनसून सत्र के दूसरे दिन जोरदार हंगामे के आसार हैं. अखिलेश यादव की अगुवाई में समाजवादी पार्टी ने सरकार को घेरने के लिए ख़ास रणनीति बनाई है. उधर विपक्ष की घेराबंदी को देखते हुए सरकार की तरफ से भी जवाब देने की मुकम्मल तैयारी की है. मिल रही जानकारी के मुताबिक आज समाजवादी पार्टी सरकार को घेरने के लिए विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाएगी. इतना ही नहीं सदन के भीतर अखिलेश यादव का आक्रामक रूप भी देखने को मिल सकता है.

उधर समाजवादी पार्टी के विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि विपक्ष खासकर मुद्दों से भागने की कोशिश कर रहा है. जब सदन चल रहा है तो जिस तरह का विरोध दिख रहा है वह मुद्दों से भटकाने वाला है. उन्होंने कहा कि सदन चल रहा है, सपा को चर्चा करनी चाहिए और जनता की बात सदन में उठानी चाहिए. लेकिन समाजवादी पार्टी और उसका गठबंधन बिखर चुका है, लिहाजा उनके पास कोई मुद्दा ही नहीं बचा है. सपा के विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पर केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरकार लोकतान्त्रिक व्यवस्था में विश्वास करती है. अगर वे प्रस्ताव लेकर आते हैं तो उस पर भी सदन के भीतर जवाब दिया जाएगा.

पहले दिन सपा ने निकाला था पैदल मार्च
गौरतलब है कि सोमवार को मॉनसून सत्र के पहले दिन अखिलेश यादव की अगुवाई में सापा विधायकों और एमएलसी ने पैदल मार्च निकालने की कोशिश की. लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया. जिसके बाद अखिलेश यादव समेत तमाम विधायक धरने पर बैठ गए. अब इसी मुद्दे पर समाजवादी पार्टी का आरोप है कि सरकार उनके अधिकारों का हनन कर रही है. उधर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि सदन के पहले दिन सपा विधायकों की अनुपस्थिति लोकतंत्र का अपमान हैं. उन्होंने जनता से भी अपील की कि वे सदन की कार्रवाई को देखें और तय करें कि कौन क्या कर रहा है?

Tags: Lucknow news, UP latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here