UP News: पूर्व विधायक और सपा नेता ने लेखपाल और ग्रामीण को पीटा, गोली मारने की दी धमकी, FIR

0
12


हाइलाइट्स

आरोप है कि पूर्व विधायक ने पैमाईश करने से रोका और ग्रामीण छब्बेलाल मौर्य और लेखपाल को मारना शुरू कर दिया.
नाराज ग्रामीण ट्रैक्टर ट्रॉली से थाने पहुंच गए. यहां सभी प्रदर्शन कर कार्रवाई की मांग की.

बरराइच. उत्तर प्रदेश के बहराइच में खैरीघाट थाना क्षेत्र के ग्राम चौगाई में रास्ते और होलिका दहन स्थल के जमीन की मंगलवार को लेखपाल पैमाईश करने पहुंचा तो तभी पूर्व विधायक सपा नेता दिलीप वर्मा ने शिकायतकर्ता और लेखपाल को लाठी से पीट दिया. साथ ही लोगों बंदूक से मारने की धमकी दी. इससे सभी मौके से फरार हो गए. थाने में जाकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर कार्रवाई की मांग की. देर रात को ग्रामीण और लेखपाल की शिकायत पर पूर्व विधायक के विरुद्ध पुलिस ने मुकद्दमा दर्ज कर लिया है,

दरअसल, जिले के खैरीघाट थाना क्षेत्र के ग्राम चौगाई  में रास्ता और होलिका दहन की जमीन पर कुछ लोगों ने कब्जा कर रखा था. ग्रामीणों की शिकायत पर एसडीएम और तहसीलदार ने जमीन पैमाईश कर कब्जा हटवाने के निर्देश दिए. मंगलवार को लेखपाल जमीन की पैमाईश करने के लिए पहुंचे, तभी सपा से पूर्व विधायक  दिलीप वर्मा अपने समर्थकों के साथ गांव पहुंच गए.

आरोप है कि पूर्व विधायक ने पैमाईश करने से रोका. साथ ही ग्रामीण छब्बेलाल मौर्य और लेखपाल को मारना शुरू कर दिया. साथ ही असलहा से मारने की धमकी दी. इस पर ग्रामीण मौके से फरार हो गए और जमीन की पैमाईश भी नहीं हो सकी.

नाराज ग्रामीण ट्रैक्टर ट्रॉली से थाने पहुंच गए. यहां सभी प्रदर्शन कर कार्रवाई की मांग की. रात 10 बजे पुलिस क्षेत्राधिकारी भी पहुंचे. ग्रामीणों की नाराजगी को देखते हुए पुलिस ने लेखपाल और छब्बेलाल की तहरीर पर पूर्व विधायक और अन्य के विरुद्ध मारपीट, धमकी देने समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि जिन्हें चोट लगी है और तहरीर मिली है. मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. मेडिकल कराया जा रहा है.

पत्नी भाजपा से रहीं विधायक

पूर्व विधायक दिलीप वर्मा की पत्नी माधुरी वर्मा वर्ष 2017 में विधान सभा चुनाव से पूर्व भाजपा में शामिल हो गई थी. भाजपा के टिकट पर नानपारा विधान सभा से चुनाव जीता. वहीं 2022 विधान सभा चुनाव से पूर्व माधुरी वर्मा के पति दिलीप वर्मा पुनः सपा ने शामिल हो गए थे.

पूर्व विधायक दिलीप वर्मा सजायफ्ता 

पूर्व विधायक दिलीप वर्मा सजायफ्ता हैं. उन्होंने वर्ष 2008/09 में शहर के डिगिहा मोहल्ले में एक सिपाही को जमकर मारा-पीटा था. जातिसूचक शब्द का प्रयोग किया था, जिसके लिए उन्हें सजा मिल चुकी है. सजायफ्ता के रूप में जेल में निरुद्ध रहे हैं. पूर्व विधायक दिलीप वर्मा ने वर्ष 2018 में तत्कालीन पुलिस क्षेत्राधिकारी नानपारा विजय प्रकाश और तहसीलदार से मारपीट कर चर्चा में आए थे. पत्नी के भाजपा विधायक होने पर काफी बवाल हुआ था. जाट समुदाय के लोगों ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन किया था, जिस पर पूर्व विधायक को जेल जानी पड़ी थी.

Tags: Samajwadi party, Up news in hindi, UP police



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here