UP News: मथुरा में ‘नशेड़ी चूहे’ डकार गए 581 किलो गांजा, कोर्ट में पुलिस बोली- हम भी बेबस

0
10


हाइलाइट्स

कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई के दौरान पुलिस से गांजे को सील पैकेट में पेश करने को कहा था
पुलिस ने अपने जवाब में कहा कि मालखाने में मौजूद चूहों ने गांजे को खा लिया
कोर्ट ने एसएसपी के चूहों पर प्रभावी अंकुश लगाने के निर्देश दिए

मथुरा. कृष्ण नगरी मथुरा में नशेड़ी चूहों से स्थानीय पुलिस भी परेशान है. आलम यह है कि मालखाने में रखे 581 किलोग्राम गांजे को भी चूहे डकार गए. यह मामला तब सामने आया जब कोर्ट ने इस बाबत पुलिस से जवाब मांगा. अपने जवाब में पुलिस ने भी चूहों के आतंक से निपटने में बेबसी जाहिर की है. दरअसल, शेरगढ़ और हाईवे थाना पुलिस द्वारा पकड़ी गई 581 किलो गांजे की खेप को पुलिस ने मालखाने में जमा करवाया था. जिसके बाद एडीजे सप्तम ने चूहों की समस्या से निपटने के लिए आदेश दिए हैं. साथ ही कहा है कि पुलिस 26 नवंबर तक कोर्ट में इस बाबत साक्ष्य पेश करे.

पूरा मामला शेरगढ़ और हाईवे थाना पुलिस द्वारा वर्ष 2018 में 386 और 195 किलो गांजे के साथ पकड़े गए आरोपियों से जुड़ा है. इस मामले में पुलिस ने साक्ष्य के तौर पर सैंपल के रूप में गांजे को कोर्ट में पेश किया था. इस मामले में  एडीजे सप्तम संजय चौधरी ने पुलिस को निर्देश दिया था कि गंजे के पैकेट को सील मुहर के साथ कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत किया जाए. इसके जवाब में पुलिस ने कहा है कि मालखाने में रखे गए गांजे को चूहे खा गए. लिहाजा गांजे की खेप को अदालत में पेश नहीं किया जा सकता.

पुलिस ने बताई बेबसी
इसके साथ ही पुलिस की तरफ से कोर्ट के समक्ष बेबसी भी जाहिर की गई है. पुलिस ने अपने जवाब में कहा है कि मालखाने में ऐसी कोई जगह नहीं है जहां सामान को चूहों से बचाया जा सके. पुलिस की तरफ से दिए गए जवाब में कहा गया कि जो थोड़ा बहुत गांजा बच गया था उसे नष्ट कर दिया गया. इसके बाद कोर्ट ने एसएसपी को निर्देशित किया कि थाने के मालखाने में पल रहे चूहों पर अंकुश लगाने के लिए प्रभावी कदम उठाया जाए. अब इस मामले में अगली सुनवाई 26 नवंबर को होगी. इस मामले में जब अभियोजन पक्ष की तरफ से बात करने की कोशिश की गई तो कोई जवाब नहीं मिला.

Tags: Mathura news, UP latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here