UP News Live Update: गोरखनाथ मंदिर में तैनात जवानों पर हमला एक गंभीर साजिश का हिस्सा- गृह विभाग

0
20


अधिक पढ़ें

Uttar Pradesh News Live Updates: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर के बाहर पुलिस के जवानों पर किया गया हमला एक गंभीर साजिश का हिस्सा है और उपलब्ध तथ्यों के आधार पर कहा जा सकता है कि यह आतंकी घटना है. लखनऊ में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने सोमवार को पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि हमलावर व्यक्ति आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए बदनीयती से मंदिर परिसर में घुसने का प्रयास कर रहा था, जिसे पीएसी एवं पुलिस के जवानों ने नाकाम कर दिया. अधिकारियों ने कहा कि इस घटना में हमलावर ने पीएसी के दो जवानों को गंभीर रूप से घायल कर दिया.

अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना की विवेचना उप्र एटीएस को सौंपे जाने का निर्देश दिया गया है. उन्होंने बताया कि यूपी एटीएस व यूपी एसटीएफ दोनों एजेंसियों को घटना का खुलासा करने के लिए संयुक्त रूप से कार्य करने का भी निर्देश दिया गया है तथा दोनों एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी गोरखपुर पहुंच चुके हैं.

बता दें कि उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर में रविवार देर शाम एक हमलावर ने घुसने की कोशिश के दौरान सुरक्षाकर्मियों पर हमला बोल दिया. हालांकि सुरक्षाकर्मियों ने उसकी कोशिश विफल कर दी और उसे वक्त रहते पकड़ लिया. इस हमले में पीएसी के दो जवान घायल भी हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं इस दौरान बहादुरी दिखाने वाले सिपाहियों को सम्मानित किया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक, इन तीनों सिपाहियों को 50-50 हज़ार रुपये का इनाम दिया जाएगा. तीनों को शौर्य पदक देने की संस्तुति की जा रही है.

वहीं पकड़े गए हमलावर के पास से लैपटाप, पैन कार्ड और विमान का टिकट भी बरामद हुआ है. इस हमलावर की पहचान अहमद मुर्तुजा अब्बासी के रूप में हुई है, जो सिविल लाइंस के पार्क रोड स्थित अब्बासी नर्सिंग होम के पास का रहने वाला है. पुलिस की पूछताछ में वह बार-बार एक ही बात दोहरा रहा था कि मैं चाहता हूं कि मुझे कोई गोली मार दे.

राजधानी लखनऊ के 5 कालिदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास पर आज से एक बार जनता दरबार शुरू हुआ. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा उनके मंत्री लोगों की फरियाद सुनेंगे. मुख्यमंत्री ने जन सुनवाई के किए मंत्रियों की ड्यूटी भी लगायी है, इसके तहत प्रत्येक सोमवार को राज्य मंत्री अजीत पाल सुनवाई करेंगे, वहीं प्रत्येक मंगलवार को राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख करेंगे सुनवाई.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here