Uttar Pradesh Elections BJP wary of Jat Muslim alliance says Akhilesh betrayed RLD – Uttar Pradesh Elections: जाट-मुस्लिम के गठजोड़ से सावधान बीजेपी, कहा

0
168


प्रज्ञा कौशिक 

नई दिल्‍ली. उत्‍तर प्रदेश चुनाव  Uttar Pradesh Elections)  में जाट और मुस्लिम वोटर्स के एकीकरण से सावधान बीजेपी (BJP)  ने समाजवादी पार्टी (सपा) पर निशाना साधा है. भाजपा यह कहकर जाट मतदाताओं तक पहुंच रही है कि सपा ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में उनके समुदाय को धोखा दिया है. दरअसल यहां समाजवादी पार्टी के उम्‍मीदवार राष्‍ट्रीय लोक दल (रालोद) के चुनावी चिन्‍ह पर चुनाव लड़ रहे हैं. इन उम्‍मीदवारों ने बीजेपी को मौका दे दिया है कि वह राज्‍य के सबसे महत्‍वपूर्ण पश्चिमी क्षेत्र में उपस्थिति मजबूत कर ले. सपा और रालोद का गठबंधन इस इलाके में बड़ी जीत की संभावना पैदा कर रहा था. यह गठबंधन रालोद के माध्यम से जाट वोटों और सपा के जरिए मुस्लिम वोट हासिल करने की तैयारी कर रहा था.

इस इलाके में बीजेपी ने समाजवादी पार्टी पर जमकर हमला बोला है. यहां विभाजित जाट मतदाताओं को अपनी ओर करने के लिए भाजपा सावधानी से आगे बढ़ी है. बीजेपी ने सपा की तुष्टिकरण की राजनीति को दोष दिया है. बीजेपी के तेजतर्रार हिंदू नेता संगीत सोम ने कहा कि जयंत चौधरी को अखिलेश यादव ने धोखा दिया है. पहले उन (अखिलेश) के पिताजी ने अजीत सिंह को धोखा दिया था, अब उनके बेटे को धोखा दिया जा रहा है.  सरधना विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार संगीत सोम ने कहा कि अखिलेश ने अपने आदमियों को रालोद के चिन्ह पर चुनाव लड़ने के लिए टिकट दिया है. इसलिए, अगर वे जीतते हैं तो विधायक, यादव के प्रति वफादार होंगे. उन्होंने पश्चिमी यूपी के जाटों को धोखा दिया है और वे इसके लिए अखिलेश यादव को कभी माफ नहीं करेंगे.  वहीं, कोरस में केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान थे, जो मानते हैं कि अखिलेश ने किसी को भी नहीं छोड़ा है. बाल्यान ने कहा चिन्‍ह रालोद का है, लेकिन उम्मीदवार समाजवादी पार्टी के हैं. उन्होंने रालोद का इस्तेमाल किया है. इससे पार्टी के समर्थक नाराज हैं. हम हर किसी का स्वागत करते हैं जो आना चाहता है.

ये भी पढ़ें: Republic Day 2022 : लद्दाख से अरुणाचल, 12 से 17000 फीट की ऊंचाई, 0 -45° सेल्सियस तापमान… हर जगह फहराया गया तिरंगा

ये भी पढ़ें: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 : दागियों पर मची है रार, जानें सपा, बसपा और भाजपा ने अभी तक उतारे कितने दागी उम्मीदवार

भाजपा ने अखिलेश यादव की पार्टी को लगाए हैं आरोप

भाजपा, इस चुनाव में रालोद प्रमुख जयंत चौधरी पर सीधा हमला करने से बच रही है. खास रणनीति के तहत बीजेपी ने रालोद को धोखा देने का आरोप अखिलेश यादव की सपा पर लगाए हैं. इधर, पश्चिमी यूपी में 7 फीसदी जाट (31 फीसदी ओबीसी में से) और 29 फीसदी मुस्लिम हैं. जाट और मुस्लिम वोटों का एकीकरण इस क्षेत्र में भाजपा की जीत की संभावनाओं को कम कर सकता है. रालोद के माध्यम से, समाजवादी पार्टी नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार द्वारा निरस्त किए जाने के बावजूद हाल के किसानों के विरोध के मुद्दे पर जाट वोटों को हथियाने की कोशिश कर रही है.

वीडियो देखने के बाद अपना फैसला करें 

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्‍तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने भी जाट बहुल गांवों में चुनाव प्रचार करते हुए इसी तरह की भावना प्रकट की है. उन्होंने कहा कि मुझे समझ में नहीं आता कि रालोद को इस गठबंधन की जरूरत क्यों है?  राणा ने कहा कि रालोद के मतदाता भी खुश नहीं हैं. मतदाताओं को गठबंधन को स्वीकार करना चाहिए और दर्द महसूस नहीं करना चाहिए.

इधर, बागपत से सांसद और जाट नेता सत्यपाल सिंह का भी मानना ​​है कि सपा ने रालोद को धोखा दिया है. सांसद ने कहा कि गठबंधन में रालोद का बहुत कम कहना था. उन्होंने कहा, रालोद की चली नहीं (रालोद का कहना नहीं था), सपा ने अपना उम्मीदवार दिया (उम्मीदवारों की पसंद को लेकर चर्चा में सपा का बोलबाला था). भाजपा ने कहा है कि सभी लोगों को वे वीडियो देखने चाहिए, जिनमें सपा के मुस्लिम उम्मीदवारों ने कथित तौर पर जाट समुदायों को उन्हें वोट देने की धमकी दी है. कैराना से सपा-रालोद प्रत्याशी नाहिद हसन के समर्थकों का वीडियो हो या मेरठ (दक्षिण) विधानसभा से सपा-रालोद प्रत्याशी आदिल चौधरी का, इन वीडियो को देखने के बाद ही निर्णय लें.

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Uttar Pradesh Elections



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here