Uttarakhand forest department hires hunter to eliminate man eater leopard

0
33


पिथौरागढ़. उत्तराखंड के ​वन विभाग के लिए तेंदुए का आतंक कितना बड़ा सवाल बन चुका है, इसकी मिसाल यह है कि प्रभावित इलाकों में नाइट कर्फ्यू के आदेश के बाद अब पिथौरागढ़ ज़िले में आदमखोर तेंदुए के लिए ट्रेंड और अनुभवी शिकारी हरीश धामी को हायर किया गया है. शिकारी इस तेंदुए को बजेटी, पापदेव, पौन इलाकों में खोजने में लगे हैं. वन विभाग के अधिकारियों की मानें तो बजेटी इलाके में आठ वर्षीय बच्ची को शिकार बनाने वाले इस तेंदुए को बीते 25 सितंबर को आदमखोर घोषित किया गया था और आसपास के तमाम इलाकों को सतर्क रहने की हिदायतें दी गई थीं.

पिथौरागढ़ ज़िले में आतंंक मचाने वाले इस तेंदुए के शिकार के लिए अपनी शिकारियों की मदद लेने वाले वन विभाग के विनय भार्गव ने बताया कि कैसे आदमखोर को पकड़ने के चलते एक अन्य तेंदुए को पकड़ा गया था. भार्गव के हवाले से एक खबर में कहा गया, ‘हमने एक पिंजरा रखा था, जिसमें एक तेंदुआ फंसा था, लेकिन उसके स्टूल और यूरिन टेस्ट से पता चला कि वह तेंदुआ कोई और था. उसे बाद में रामनगर के जंगलों में छोड़ दिया गया.’

ये भी पढ़ें : CM धामी पहुंचे केदारनाथ, PM मोदी के दौरे से पहले लिया धाम के पुनर्निर्माण का जायज़ा

कितने तेंदुए घूम रहे हैं यहां?
भार्गव की मानें तो कम से कम दो और इससे ज़्यादा तेंदुए भी हो सकते हैं, जिन्हें बजेटी की घटना के बाद स्पॉट किया जा चुका है. इससे पहले 23 सितंबर को पिथौरागढ़ ने आदमखोर तेंदुए से बचाव के लिए नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया था. ज़िले के इतिहास में पहली बार इस तरह का कदम उठाया गया था.

ये भी पढ़ें : Char Dham Yatra : हाई कोर्ट ने सभी के लिए खोले धाम, रजिस्ट्रेशन और RTPCR रिपोर्ट अनिवार्य

अब तक मारे जा चुके हैं 800 लोग!
तेंदुओं या जंगली जानवरों के इंसानी बस्तियों में हमले या इंसानों और जानवरों के संघर्ष की समस्या उत्तराखंड के राज्य बनने से ही रही है. इस तरह के एनकाउंटरों में अब तक 800 से ज़्यादा इंसानी जानें जा चुकी हैं. वन विभाग के आंकड़ों की मानें तो इनमें से करीब आधी मौतें तेंदुओं के हमले में हुई हैंं. गौरतलब है कि राज्य भर में कितने तेंदुए हैं, इसे लेकर 2008 में आखिरी गणना हुई थी, जिसके मुताबिक इनकी संख्या उत्तराखंड में 2335 थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here