Varanasi: टूटी सड़कों से परेशान लोगों ने सरकारी व्यवस्था को दिखाया आइना, चंदा जुटाकर कराया काम

0
23


रिपोर्ट: अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. यूपी के वाराणसी में कई ऐसे इलाके भी हैं जहां गाड़ी तो दूर लोगों के पैदल चलने लायक भी सड़कें नहीं हैं. दरअसल वाराणसी के रोहनिया विधानसभा (Rohaniya Vidhan Sabha) क्षेत्र के डाफी इलाके से सटी नारायणपुरम कॉलोनी भी उसमें से एक है. स्थानीय लोगों की मानें तो कॉलोनी की टूटी सड़कों को लेकर उन्होंने स्थानीय विधायक से लेकर सीएम पोर्टल तक शिकायत की, लेकिन सालों बाद भी इस समस्या का समाधान नहीं हो पाया.

पांच सालों में कॉलोनी की कच्ची सड़क को बनवाने के लिए स्थानीय लोगों ने अफसरों के दफ्तर के चक्कर भी कांटे, लेकिन जब समस्या का समाधान नहीं हुआ तो स्थानीय लोगों ने बैठक कर खुद ही सड़क के निर्माण कराने का फैसला किया. कॉलोनी के 45 परिवारों ने इसके लिए 10-10 हजार रुपये का चंदा दिया. वहीं, पौने पांच लाख इकट्ठा हुए तो लोगों ने कॉलोनी की 700 मीटर की कच्ची सड़क को पक्का करने के लिए काम की शुरुआत कर दी.

नहीं हुआ समस्या का समाधान
इलाके के रहने वाले रविशंकर राय ने बताया कि पिछले विधायक के कार्यालय में यहां बहुत मुश्किलों के बाद पांच लाख रुपये की लागत से सीवर की पाइप लाइन बिछाई गयी थी. यह पाइप लाइन सड़क के ऊपर ही दौड़ा दी गई थी जिसके बाद से इलाके के लोगों की समस्या और बढ़ गई. इसके बाद सड़क निर्माण के लिए लोगों ने सीएम पोर्टल से लेकर अफसरों के दफ्तर और विधायक से इसकी शिकायत भी की, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ.

कई बार लोग हो चुके हैं चोटिल
शिव प्रसाद ने बताया कि खराब सड़कों के कारण कई बार इलाके के लोग चोटिल भी हुए और बारिश में हम लोगों ने अपने बच्चों को गोद में उठाकर सड़कों तक पहुंचाया, लेकिन जब कहीं भी हमारी गुहार नहीं सुनी गई तो अब लोगों ने चंदा से पैसे इक्क्ठा कर सड़क का निर्माण शुरू कराया. वहीं, राजकुमार सिंह ने बताया कि अभी लगभग पौने पांच लाख रुपये से हम लोगों ने टूटी सड़कों पर खड़ंजा बिछवाया है और अब यहां पक्का निर्माण भी होगा.

विधायक ने कही ये बात
हालांकि इस पूरे मामले में जब स्थानीय विधायक सुनील पटेल से News 18 Local की टीम ने फोन पर बातचीत की तो उन्होंने ऐसे किसी भी मामले की जानकारी से इनकार किया. उन्‍होंने कहा कि अब मामला उनकी जानकारी में आया है जिसके बाद वो इलाके में जाएंगे. इसके बाद समस्या देखकर, उसे कैसे दूर किया जाए इस पर विचार करेंगे.

Tags: Varanasi DM, Varanasi news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here