Varanasi: नगर निकाय चुनाव में सुनाई देगी आदिविश्वेश्वर की गूंज, SP बोली- नाम की जगह बदलनी चाहिए तस्वीर

0
13


वाराणसी. उत्तर प्रदेश में नगर निगम चुनाव को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं. निगम चुनाव की तैयारियों के बीच वाराणसी में परिसीमन के बाद न सिर्फ वार्डों की संख्या बढ़ाई गई है, बल्कि कई ऐसे वार्ड भी हैं जिनके नाम भी बदले हैं. नाम बदलने के बाद वार्डों का नाम आदिविश्वेश्वर, बिंदु माधव, ओमकालेश्वर और कृतिवाशेश्वर रखा गया है. इसके बाद अब वार्ड के बदले नामों पर सिसायत गर्म है. समाजवादी पार्टी जहां यह कह रही है कि नाम बदलने से अच्छा होता वार्डों में विकास होता. वहीं, बीजेपी का कहना है कि इससे हमारे पुरातन संस्कृति को नई पहचान मिलेगी.

दरअसल, वार्डो के नाम को बदलने को लेकर चर्चा इसलिए भी है कि जिन नए नाम से वार्ड बनाए गए हैं उससे जुड़े मामले न्यायालय में विचाराधीन है. आदिविश्वेश्वर से लेकर बिंदु माधव के लिए कोर्ट में कानूनी लड़ाई जारी है. ऐसे में इन नए नामों को सरकारी दस्तावेजों में शामिल कर नया वार्ड बनाने से सियासत के साथ चर्चाओं का बाजार भी गर्म है. यह भी कहा जा रहा है कि निगम चुनाव में भी आदिविश्वेश्वर की गूंज वाराणसी ही नहीं, बल्कि कई दूसरे जिलों में भी सुनाई देगी.

तस्वीर बदलती तो अच्छा होता
एसपी के नेता सत्यप्रकाश सोनकर ने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार तमाम जिलों के नाम बदल रही है. जहां तक वाराणसी के वार्डों का नाम बदलने की बात है, यदि नाम के बजाय गलियों तक विकास पहुंच पाता तो शायद चुनाव में इसकी जरूरत नहीं पड़ती.

पुरानी संस्कृति को मिलेगी नई पहचान
वहीं, वाराणसी की मेयर मृदुला जायसवाल ने बताया कि मुगलकाल में हमारी सभ्यता और विरासत को बहुत नुकसान पहुंचाया गया था. नये नामों से लोग न सिर्फ उन पुरानी विरासत और संस्कृति को जान सकेंगे बल्कि उसे फिर से खोई हुई पुरानी पहचान भी मिलेगी. जहां तक इन मुद्दों के कोर्ट में होने की बात है हमें विश्वास है कि जल्द ही इस पर कोर्ट का फैसला आएगा.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 15, 2022, 13:01 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here