Varanasi News: महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में कैनवास पर उकेरी जा रही हनुमान चालीसा,जानिए क्यों भेजी जाएगी चित्रकूट

0
74


रिपोर्ट-अभिषेक जायसवाल, वाराणसी

वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ (MGKVP) के प्रोफेसर ने अनोखी पहल की है.विश्वविद्यालय के ललित कला विभाग के प्रोफेसर ने पहली बार हनुमान चालीसा की चौपाइयों को चित्रों पर उकेरा है.खास बात ये है कि हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) की चौपाइयों को उकेरा जा रहा है.इन तस्वीरों को पूरी दुनियां देख सके इसके लिए इन सभी पेंटिंग को चित्रकूट के तुलसीदास शोध संस्थान के संग्रहालय में लगाया जाएगा.प्रोफेसर सुनील विश्वकर्मा ने अब तक 24 चौपाइयों को रंगों के जरिए कैनवास पर उकेरा है.

सुनील विश्वकर्मा ने बताया कि हनुमान चालीसा की 40 चौपाइयों को वो कैनवास पर उकेर रहे हैं.इसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की है.पेंटिंग को तैयार करने से पहले उन्होंने कई कथावाचकों को सुना फिर हनुमान चालीसा की चौपाइयों को समझने के बाद उसके कैनवास पर उतारने का काम शुरू किया.प्रोफेसर सुनील विश्वकर्मा ने अब तक 40 में से 26 चौपाइयों पर पेंटिंग को तैयार भी कर दिया है. उन्होंने बताया कि ऐसा पहली बार होगा जब हनुमान चालीसा की चौपाइयों को लोग कैनवास पर देख सकेंगे.

10 दिन में तैयार होती है एक पेंटिंग
बताते चले कि इस काम को प्रोफेसर सुनील विश्वकर्मा बीते कई महीनों से कर रहे हैं.प्रतिदिन वो 2 घण्टे कैनवास पर रंगो से हनुमान चालीसा की चौपाइयों को उकेर रहे हैं.एक पेंटिंग को तैयार करने में उन्हें करीब 10 दिन का वक्त लगता है.ये सभी तस्वीर जब एक साथ लोगों के सामने होंगी तो वो भी आसानी से इन पेंटिंग के जरिये हनुमान चालीसा की चौपाइयों का अर्थ समझ सकेंगे.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : May 06, 2022, 16:56 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here