Video: देव दीपावली पर काशी में बना नया रिकॉर्ड, 21 लाख दीप जले तो लेजर शो ने जीता दिल

0
16


रिपोर्ट-अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में सोमवार को स्वर्ग सा नजारा देखने को मिला. अर्धचंद्राकार घाट लाखों दीयों की रोशनी से जगमग हो उठा. गंगा तट के दोनों किनारे पर असंख्य दीयों की माला जब जली तो इस अद्भुत नजारे को हर कोई बस देखता ही रह गया. घाटों की छठा ऐसी ही मानो देव लोक स्वर्ग से धरती पर उतर आया हो. जबकि दिव्य काशी की भव्य देव दीपावली पर दशाश्वमेध घाट पर होने वाली गंगा आरती ने चार चांद लगा दिए. इसके साथ चेतसिंह घाट के लेजर शो ने हर किसी को अपनी ओर ध्यान आकर्षित किया.

गंगा तट के इस अद्भुत नजारे को हर किसी ने अपने मोबाइल में कैद किया. इन तमाम आयोजनों के अलावा काशी विश्वनाथ धाम के सामने गंगा पार रेत पर ग्रीन आतिशबाजी हुई, जिसने इस आयोजन में समा बांधी. जानकारी के मुताबिक, काशी के घाटों से लेकर शहर के कुंड तालाबों तक 21 लाख दीप जले. दीपों की इस असंख्य श्रृंखला ने देव दीपावली पर नया रिकॉर्ड बनाया. बता दें कि 2 साल पहले जब पीएम मोदी इस आयोजन में शामिल हुए थे,तब काशी में 15 लाख दीप जले थे.

महाआरती ने किया मंत्रमुग्ध
देव दीपावली पर दशाश्वमेध घाट पर गंगोत्री सेवा समिति और गंगा सेवा निधि द्वारा होने वाली मां गंगा की भव्य महाआरती ने इस पूरे आयोजन में छठा बिखेरी. दशाश्वमेध घाट पर मां गंगा के अष्टघातु की प्रतिमा का 108 किलो फूलों से श्रृंगार हुआ. इसके बाद गंगा पूजन और फिर 21 बटुकों ने मां गंगा की मनोहारी आरती की.

लेजर शो बना आकर्षण का केंद्र
वाराणसी के चेतसिंह घाट पर इस बार पहली बार 3 डी लेजर शो का आयोजन हुआ. इस आयोजन में किले के दीवारों पर लेजर शो के जरिए काशी और गंगा और आधरित कथा जीवंत हुई. शाम 7 बजे से इसकी शुरुआत हुई फिर 15 मिनट के अंतराल पर शो का आयोजन हुआ.इसके बाद काशी विश्वनाथ धाम के सामने ग्रीन आतिशबाजी ने लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया.

ये है धार्मिक मान्यता
धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, आज (सोमवार) के दिन ही भगवान शंकर ने त्रिपरासुर नाम के राक्षस का वध किया था जिसके खुशी में सभी देवताओं ने गंगा तट पर दिवाली मनाई थी. वैसा ही नजारा गंगा तट के किनारे देखने को मिला.

Tags: Varanasi Ganga Aarti, Varanasi news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here