Winter session of Legislative Assembly from 29 november speaker vijay sinha strict on careless officers brvj – बिहार विधान सभा शीतकालीन सत्र 29 से, स्पीकर बोले

0
13


पटना. बिहार विधान सभा का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू होकर 3 दिसंबर तक चलेगा, लेकिन सत्र शुरू होने के पहले बिहार विधान सभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने मंगलवार को बिहार विधान सभा के अधिकारियों के साथ बिहार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की. बैठक में उन्होंने बेहद कड़े अंदाज में कई महत्वपूर्ण निर्देश अधिकारियों को दिए. विधानसभा अध्यक्ष ने विधायकों के साथ दुर्व्यवहार से जुड़े मामलों में हुई कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है. बैठक में उन्होंने मुख्य सचिव त्रिपुरारि शरण को कहा कि वे लिखित तौर पर बताएं कि विधायकों के साथ अधिकारियों के दुर्व्यवहार के मामलों में क्या कार्रवाई हुई? उन्होंने कहा कि अगर मुख्य सचिव यह ब्योरा उपलब्ध नहीं कराते हैं तो विशेषाधिकार हनन के तहत हासिल अधिकार का उपयोग किया जाएगा.

विधान सभा स्पीकर ने यह भी बताया कि 29 नवंबर से प्रारंभ सत्र की समाप्ति के बाद मुख्यमंत्री की सलाह से संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा. विधान सभा अध्यक्ष ने बताया कि यह पहली बार है आजादी के बाद जब हंड्रेड परसेंट प्रश्नों का जवाब सदन पटल पर आया है. एक इतिहास रचा गया है. यह कायम रहे. जो भी विभाग प्रश्न के उतर समय पर नही देंगे या फिर लापरवाही करेंगे, उन्हें हम गंभीरता से लेंगे.

स्पीकर ने कहा कि वैसे अधिकारियों को सदन में भी जवाब देने के लिए बुलाया जा सकता है क्योंकि यह सदन और हमारे माननीय विधायक जनता के प्रति जवाबदेह हैं. सरकार की सजगता और विधायकों की गंभीरता बनी रहे, विकास के प्रति और प्राथमिकता हमारे विकास के प्रति हो, यह सुनिश्चित हो. ये हमारी जिम्मेदारी है.

बैठक के बाद विधान सभा अध्यक्ष ने बताया कि शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू होकर 3 दिसंबर तक चलेगा और इसमें हम लोगों ने वरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक इसलिए बुलाई थी. व्यवस्था सुचारू ढंग से चले और समय पर हमारे प्रश्न विभाग से आए. ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन प्रश्नों का पूरक प्रश्न विधायकों के द्वारा पूछा जा सके समय का बचत हो सके बिहार के विकास की गति जो बड़ी है उच्च गति में सभी की भागीदारी बढ़े.

विधान सभा अध्यक्ष ने बताया कि अधिकारियों के साथ बैठक में सदन चलने के दौरान सुरक्षा व्यवस्था का हाल जाना. उन्होंने यह भी जाना कि सदन चलने के दौरान सुरक्षा की क्या व्यवस्था रहेगी. विधान सभा अध्यक्ष को बताया गया कि सदन सुचारु ढंग से चलाने के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे ताकि सदन चलने के दौरान कोई भी दिक्कत न आए.

गौरतलब है कि बजट सत्र के दौरान सदन के अंदर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच जो हाथापाई की घटना घटी थी उसने पूरे देश में बिहार की छवि पर असर डाला था, ऐसी घटना दोबारा न हो, इसे लेकर भी विधान सभा अध्यक्ष सुरक्षा को लेकर पूरी तरह अलर्ट दिख रहे हैं. अधिकारियों को निर्देश भी दिया है.

Tags: Bihar News, Bihar politics, PATNA NEWS



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here